sad shayari

 

ये हवा भी अब ताना मारने लगी..!!
कि तुम तड़पते रह गए और मैं उन्हें छू आई.... !!!

तेरे पास जो है उसकी क़द्र कर और सब्र कर ,,,
यहाँ तो आसमां के पास भी खुद की जमीं नहीं है..!!!.

यहाँ कोई नही मिलेगा मरहम लगाने के लिये ,,,
शायरी कर लीजिये गम आधा हो जायेगा...!!!!
छुप छुप कर मुझे पढ़ते हो...?
"उफ"
मुझ पर यु भी नजर रखते हो... !!!

जनाज़े पर मेरे तुम देख लेना
ऐ-जान,,,
तुम्हारे ही नाम के नारे लगेंगे...!!!

चाहते हैं वो हर बार एक नया चाहने वाला,,
ए खुदा मुझे हर रोज़ इक नई सूरत दे दे ..!!!


वो लफ्ज कहां से लाऊं जो तेरे दिल को मोम कर दें;,,
मेरा वजूद पिघल रहा है तेरी बेरूखी से...!!!

नींद में भी गिरते हैं मेरी आँख से आंसू....
जब भी तुम ख्वाबों में मेरा हाथ छोड़ देती हो..!!!

बताऊँ तुम्हे एक निशानी उदास लोगों की,,,,
कभी गौर करना ये हँसते बहुत है.....!!!
आदत मुझे अँधेरों से डरने की डाल कर,,,,
एक शख़्स मेरी जिंदगी को रात कर गया ..!!!

ख्वाब मत बना मुझे, कभी सच नही होते,,,
साया बना के रख ले, कभी साथ नही छोडूगा..!!!

जब भी हाल पूछता हू ठीक बताते हो ...
लगता है मोहब्बत छोड़ दी तुमने ..... !!

जो उङ गए परिदें उनका अफसोस क्या करुँ,,,
यहाँ तो पाले हुए भी गैरों की छत पर उतरते हैं..!!!

रब महँगी घडी  सबको दे,,,,
पर मुश्किल घडी  किसी को न दे..!!!!

मेरे लफ्ज़ फ़ीके पड़ गए, तेरी एक अदा के सामने...
.
मैं तुझको खुदा कह गया , अपने खुदा के सामने ..!!!

रोज़ जले फ़िर भी ना ख़ाक हुए,,
अजीब है ये इश्क़ बुझ कर भी ना राख हुए...!!!

मेरी गली के बच्चे बहुत शरारती हैँ...
आज फिर तुम्हारा नाम मेरी दीवार पर लिख गये...!!

लब्ज रिश्तों का एहसास बदल देते हैं,,,
प्यार से चख लो ,तो स्वाद बदल देते है...!!!

तेरे चेहरे के हजारों चाहने वाले,,,
तेरी रूह का मैं अकेला दीवाना..!!!!

सुकून मिलता है दो लफ्ज कागज पर उतार कर,,,
चीख भी लेता हूँ और आवाज भी नही होती....!!!

Read more sad shayari click here

Romantic shayari click here

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment